उत्तर प्रदेश में बिजली का संकट जारी, निर्बाध बिजली आपूर्ति के संबंध में मुख्यमंत्री ने दिया दिशा-निर्देश

Spread the love

बिजली के संकट से जूझ रही उत्तर प्रदेश को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों के लिए निर्देष जारी किया हैं योगी ने कहा है कि एनर्जी सेक्टर में व्यापक सुधार की जरूरत हैं।

विभागीय मंत्री अपने महकमे की कार्यप्रणाली की समीक्षा करके हर लेवल पर बदलाव की कोशिश करें। 
निर्बाध बिजली आपूर्ति के संबंध में मुख्यमंत्री जी के दिशा-निर्देश

● सभी 75 जिलों में रोस्टर के अनुरूप निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित कराएं। केंद्र सरकार की ओर से हर संभव मदद मिल रही है।

खदानों से पॉवर प्लांट तक कोयले की ढुलाई के लिए रेल के साथ-साथ सड़क मार्ग का प्रयोग भी किया जाना चाहिए।

● ऊर्जा क्षेत्र में सुधार की व्यापक आवश्यकता है। भविष्य की ऊर्जा जरूरतों के दृष्टिगत कार्ययोजना तैयार की जाए।

विभागीय मंत्री द्वारा विभाग की कार्यप्रणाली की गहन समीक्षा करते हुए हर स्तर पर व्यापक बदलाव के प्रयास किए जाएं।

● बिजली बिल के समयबद्ध भुगतान के लिए उपभोक्ताओं को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। इसके लिए यह जरूरी है कि लोगों को सही बिल मिले और समय पर मिले।

ओवरबिलिंग, फाल्स बिलिंग अथवा विलंब से बिल दिया जाना उपभोक्ता को परेशान करती है। इस व्यवस्था में सुधार के लिए बिलिंग और कलेक्शन एफिशिएंसी बढ़ाने के लिए ऊर्जा विभाग को ठोस कार्ययोजना बनानी होगी। ग्रामीण इलाकों में विशेष प्रयास की जरूरत है।

 ● बिजली बिल बकाए के भुगतान के लिए एकमुश्त समाधान योजना (ओटीएस) लाई जाए। योजना ऐसी हो, जिसमें लोगों को बकाए पर ब्याज से छूट मिले, क़िस्त में भुगतान की सुविधा हो। इस संबंध में यथाशीघ्र कार्यवाही अपेक्षित है।

इसी तरह की और जानकारी के लिए हमारे Facebook पेज को लाइक करें और InstagramTwitter पे हमें फ़ॉलो करें। आप इस विषय में कोई भी जानकारी कॉमेंट्स के द्वारा हम तक पहुँचा सकते हैं। आप के सुझाव हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं|